Swayamvara Parvathi Mantra : मंत्र जो खत्म करेगा आपकी विवाह से जुड़ी सारी समस्याएं

Swayamvara Parvathi Mantra or Mool Mantra :

स्वयंवर पार्वती मंत्र (swayamvara parvathi mantra) को पार्वती स्वयंवर मंत्र (Parvati swayamvar mantra) भी कहा जाता है.यह एक ऐसा मंत्र है जो कि सदियों से लोगों की विवाह से जुड़ी परेशानियों को दूर करने के लिए जाना जाता है.

ऐसा होगा भी क्यों नहीं! यह मंत्र इस जगत की आदिशक्ति को समर्पित है जो कि बहुत ही दयालु है और अपने बच्चों के कष्टों को सदैव दूर करती हैं.

यह बहुत ही विश्वसनीय एवं शक्तिशाली मंत्र है. यह मंत्र विवाह, प्रेम विवाह, दांपत्य जीवन में परेशानियां, तलाक के बाद दूसरे विवाह, पारिवारिक जीवन में खुशियों के लिए बहुत ही प्रभावशाली मंत्र है.

Read More : Jai Jai Girivar Raj Kishori Lyrics in Hindi : सभी मनोरथ पूर्ण करने वाली गौरी स्तुति रामायण

Origin Of Swayamvara Parvathi Mantra : ऐसा माना जाता है कि ऋषि दुर्वासा ने, भगवान शंकर को पाने के लिए माता पार्वती को यह मंत्र दिया था. इसी मंत्र को करके उन्होंने भगवान शिव को प्राप्त किया था.. इसी कारण इस मंत्र को ‘स्वयंवर पार्वती मंत्र’ कहा जाता है.

Swayamvara Parvathi Mantra Lyrics :

स्वयंवर पार्वती मंत्र, स्वयंवर पार्वती स्तोत्र से लिया गया है. यह मंत्र स्वयंवर पार्वती स्तोत्र के प्रत्येक श्लोक के प्रथम अक्षर से मिलकर बना है.

swayamvara parvathi mantra in hindi 

"ॐ ह्रीं योगिनी योगिनी योगेश्वरी योग भयन्करी 
सकल स्थावर जन्गमस्य मुख हृदयं मम वशं
आकर्षय आकर्षय नमः॥"

 

swayamvara parvathi mantra in English 

“Om Hreem Yogini Yogini Yogeshwari Yoga Bhayankari
Sakala Sthavara Jangamasya Mukha Hridayam
Mama Vasham Akarshaya Akarshaya Namah:”

 

Swayamvara Parvathi Mantra

Swayamvara Parvathi Mantra Benefits :

Swayamvara Parvathi Mantra for Delayed Marriage :                                                        आप स्त्री अथवा पुरुष अगर आपकी शादी में देर हो रही है और शादी के संबंध आकर चले जाते हैं लेकिन बात नहीं बन रही हैं तो आप इस मंत्र को श्रद्धा पूर्वक पूर्ण विश्वास के साथ करें, शीघ्र ही आप का कार्य पूर्ण होगा.

Swayamvara Parvathi Mantra for Love Marriage :                                                              अगर आप किसी से प्रेम करते हैं और विवाह करना चाहते हैं तो यह मंत्र आपकी प्रेम को पूर्ण करने में और विवाह कराने में बहुत सहायक होगा अतः श्रद्धा पूर्वक इस मंत्र का जाप करें.

Read MORE : Maha Mrityunjaya Mantra In Hindi : जानिए Lyrics, Meaning और क्यों है महामृत्युंजय मंत्र इतना महत्वपूर्ण?

Swayamvara Parvathi Mantra for Problem in Married Life or To Avoid Divorce :                     अगर आपकी शादी हो चुकी है लेकिन आपके वैवाहिक जीवन में किसी भी कारण से परेशानियां चल रही है अथवा बात तलाक तक पहुंच चुकी है तो आप इस मंत्र को पूरी श्रद्धा से करें.                                                                              मां गौरी से प्रार्थना करें कि वह आपके वैवाहिक जीवन (दांपत्य जीवन) की रक्षा करें और आपके दांपत्य जीवन में मधुरता लाए और उसे लंबा करें 🙏. आप शीघ्र ही देखेंगे कि आपकी दांपत्य जीवन से परेशानियां दूर हो रही है और आपका दांपत्य जीवन मधुर हो रहा है.

Swayamvara Parvathi Mantra for Problem in Conceiving :                                                           अगर शादी के बाद आपको संतान प्राप्ति में बाधा आ रही है तो भी आप इस मंत्र का जप श्रद्धा पूर्वक कर सकते हैं किंतु ध्यान रहे अगर Medically आपने कोई बहुत बड़ी दिक्कत है तो इस मंत्र का असर सीमित हो सकता है !

Read MORE : सर्वत्र मंगल प्राप्ति मंत्र : Sarva Mangala Mangalye Mantra Lyrics, Benefits & Meaning

Swayamvar a Parvathi Mantra for Remarriage After Divorce :                                                       अगर किसी भी व्यक्ति का पहला विवाह किसी भी कारण से पहले टूट चुका है लेकिन वह अब दूसरा विवाह करना चाहता है तो उस कार्य की सिद्धि के लिए भी आप इस मंत्र को श्रद्धा पूर्वक कर सकते हैं.  

Parvati Mantra for Happy Married Life :                                                                            अगर आपके जीवन में सब कुछ अच्छा चल रहा है तब भी अपने परिवार एवं दांपत्य जीवन की खुशहाली के लिए आप इस मंत्र को कर सकते हैं.

अतः इस मंत्र की सबसे अच्छी बात यह है कि यह अगर आप की शादी नहीं हो रही है तब आप इस मंत्र को कर सकते हैं..अगर आप प्रेम विवाह चाहते हैं तो भी आप इस मंत्र को कर सकते हैं और अगर आपकी शादी हो चुकी है लेकिन आपके वैवाहिक जीवन में परेशानियां आ रही है तो भी यह मंत्र उतना ही प्रभावशाली है !

इसके साथ ही साथ अगर सब कुछ ठीक होते हुए भी आप की प्रजनन क्षमता दुर्बल हो रही है अर्थात् आपको संतान की प्राप्ति में बाधा आ रही है तो भी आप इस मंत्र को पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ करके मनचाही मनोरथ की पूर्ति कर सकते हैं.

                                                                                                                                Swayamvara Parvathi Mantra Procedure : 

1. संकल्प :अगर आप किसी अनुष्ठान के तहत करना चाहते हैं अपने किसी विशेष मनोरथ को लेकर तो आपको सर्वप्रथम संकल्प लेना चाहिए!

इसके लिए देवी माता (Goddess) के सामने आपको हाथ में जल लेकर अपना नाम, पिता का नाम, गोत्र, तिथि, नक्षत्र, वार तथा आप कितने मंत्र (108/1008) प्रतिदिन करेंगे तथा कुल कितने मंत्र करेंगे उनकी संख्या एवं कितने दिन तक करेंगे एवं अपना मनोरथ/समस्या जिसके लिए आप यहां जप कर रहे हैं. उस समस्या को माता रानी से दूर करने की प्रार्थना करते हुए कटोरी में जल छोड़ दे!

Caution!! अगर आप पूरी तरह अपने संकल्प को लेकर कॉन्फिडेंट नहीं है कि आप उतनी की मात्रा में मंत्र जाप लगातार कर पाएंगे अथवा नहीं तो आपको पहले कुछ दिन बिना संकल्प लिए इस मंत्र को उतनी ही मात्रा में करना चाहिए जिससे आपको अपनी क्षमता का पता लग सके क्योंकि अगर आपने एक बार संकल्प ले लिया तो आपको यह वह संकल्प पूरा करना ही होगा क्योंकि यह भी ईश्वर के सामने आपकी oath की तरह है. 

2. माता रानी को फल फूल नैवेद्य अर्पित करें एवं धूप दीप जलाएं.

3. पूरी श्रद्धा एवं विश्वास के साथ कम से कम 108 बार मंत्र रोज जाप करें. यहां आपको शुद्ध उच्चारण में 108 बार जप वीडियो के माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है, इस वीडियो के साथ साथ आप भी मंत्र बोलने की कोशिश करें जिससे Positive Vibrations आप तक पहुंच सके ! Click Here to Listen Mantra

4. कम से कम 108 मंत्र प्रतिदिन 48 दिन तक करें अगर आपमें क्षमता है तो 1008 बार मंत्र भी आप प्रतिदिन कर सकते हैं.

5. कोशिश करें समय एवं स्थान एक सा रहे.

6. वैसे शास्त्रीय विधि अनुसार इन मंत्रों जप की संख्या 1 लाख बताई गई है. अगर आप की क्षमता है तो आप निश्चित संख्या में जप कर वह संख्या भी पूरी कर सकते हैं लेकिन यह केवल आपकी इच्छा पर ही निर्भर करता है.

 मित्रों यह तो रही शास्त्रीय विधि की बात लेकिन अगर आप सरल विधि से इस मंत्र को करना चाहते हैं तो आप केवल पूरी श्रद्धा एवं विश्वास मां गौरी पर रखते हुए इस वीडियो के माध्यम से किसी भी साफ स्थान पर बैठकर (कोशिश करें समय एवं स्थान हमेशा एक सा यानी Same ही रहे) इसके साथ-साथ जप करते हुए, प्रतिदिन 108 बार जप कर सकते हैं. यह भी बहुत असरकारी है किंतु श्रद्धा-विश्वास मां गौरी पर अति आवश्यक है.

(Process Credit : https://swayamvaraparvathi.org/)

Swayamvara Parvathi Mantra 108 times :

 

FAQ

 

Q. इस मंत्र को कौन कर सकता है? Who Can Chant This Mantra?

A. लिंग, जाति, पंथ, देश, धर्म के बावजूद कोई भी इस स्वयंवर पार्वती मंत्र को कर सकता है. इसलिए आप अगर स्त्री हैं अथवा पुरुष आप इस मंत्र को कर सकते हैं.

 

Q. मंत्र के अंत का शब्द कहीं नमः मिलता है और कहीं स्वाहा! क्यों? The word at the end of the mantra is found somewhere Namah and somewhere Swaha! Why? 

A. जहां तक हम इसका कारण समझते हैं तो वह यही है कि जब आप मंत्र जप करते हैं तो आपको नमः शब्द प्रयोग करना चाहिए लेकिन अगर आप उसका हवन (Homam)करते हैं तो आपको स्वाहा शब्द प्रयोग करना चाहिए.

 

Q. स्वयंवर पार्वती मंत्र का कितनी बार जाप करें?                      Swayamvara Parvathi Mantra how many times to chant?                                                 

A. 108/1008 मंत्र 48 या 108 दिन तक.

 

Q. क्या मैं पीरियड्स के दौरान मंत्र जाप कर सकती हूं?       Can i chant mantra during periods?                   

A. पीरियड के दौरान मंत्र रोक दें और उसके बाद फिर वही से continue करें.

 

Disclaimer !! यहां आपको, हमारी जानकारी के अनुसार, इस मंत्र से संबंधित पूरी  सही जानकारी देने की कोशिश की गई है किंतु फिर भी किसी मंत्र का असर, पूरी तरह आपकी श्रद्धा एवं विश्वास एवं ईश्वर की इच्छा पर निर्भर करता है !!                          

 

PLS FOLLOW US

Facebook

Devotional Facebook Page

Subscribe Us on YouTube

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here