Katyayani Mantra : अगर Love Marriage में आ रही हैं रुकावटें तो करें कात्यायनी मंत्र

Katyayani Mantra
Katyayani Mantra

Katyayani Mantra for Love Marriage

कात्यायनी देवी नवरात्रि की छठी अधिष्ठात्री देवी है. इनको आदिशक्ति मां पार्वती का रूप माना जाता है. कात्यायन ऋषि के यहां पुत्री रूप में जन्म लेने के कारण इनका नाम, अपने पिता के नाम पर ही कात्यायनी पड़ा.

मां कात्यायनी गुरु ग्रह बृहस्पति को नियंत्रित करती हैं और ज्योतिष के अनुसार बृहस्पति ग्रह को दांपत्य एवं विवाह के लिए (Katyayani Mantra for Marriage) महत्वपूर्ण ग्रह माना जाता है अतः मां कात्यायनी की आराधना से विवाह एवं उससे संबंधित परेशानियां दूर होती हैं.

कात्यायनी मंत्र एक ऐसा मंत्र है जो कि प्रेमी जोड़ों को एक आस देता है!! कभी-कभी ऐसा होता है कि मन में किसी खास की छवि अंकित होती है किंतु माता-पिता अथवा अन्य किसी कारण से विवाह संबंध नहीं बन पाता, ऐसे में आपकी सहायता करता है यह कात्यायनी मंत्र (Katyayani Mantra for Love Marriage).

ऐसा माना जाता है कात्यायनी मंत्र करने से विवाह की बाधाएं (Katyayani Mantra for Marriage) तो दूर होती ही है साथ ही आपका अपना मनचाहा जीवनसाथी भी प्राप्त होता हैं यानी जिससे आप विवाह करना चाहती हैं लेकिन किसी कारण से (परिवार वालों के ना मानने से अथवा किसी अन्य कारण से) विवाह नहीं हो पा रहा है तो कात्यायनी मंत्र बहुत ही कारगर है. इसके साथ ही सुखी दांपत्य जीवन का आशीर्वाद भी मां कात्यायनी का मंत्र करने से मिलता है.

मां कात्यायनी का मंत्र कन्या के शीघ्र एवं प्रेम विवाह के लिए बहुत ही उत्तम माना जाता है. कहा जाता है, गोपियों ने भगवान कृष्ण को पति रूप में पाने के लिए मां कात्यायनी की पूजा की थी . इसी कारण आज भी ब्रजधाम में यह मंत्र प्रचलित एवं प्रभावशाली माना जाता है.

 Benefits Of Katyayani Mantra (कात्यायनी मंत्र करने के लाभ): 

  1. जिन कन्याओं की शादी में विलंब हो रहा है, उनके शीघ्र विवाह के योग बनते हैं.

2. अगर आप प्रेम विवाह (Love Marriage) करना चाहती हैं लेकिन किसी कारण से नहीं हो पा रही है तो परेशानियां दूर होकर प्रेम विवाह का मार्ग प्रशस्त होता है.

3. सुखी दांपत्य जीवन के लिए भी यह मंत्र किया जाता है माना जाता है यह मंत्र पति पत्नी के प्रेम को बढ़ाता है और उन के बीच में प्रेम और आकर्षण बढ़ाता है.

4. अगर कुंडली में मांगलिक योग है उसकी वजह से विवाह में अड़चनें आ रही हैं अथवा मांगलिक होने के कारण विवाह के बाद वैवाहिक जीवन में तकरार चल रही है तो भी यह मंत्र बहुत प्रभावशाली माना जाता है.

Katyayani Mantra for love Marriage
Katyayani Mantra for love Marriage

Katyayani Mantra for Marriage in Hindi : 

कात्यायनी महामाये, महायोगिन्यधीश्वरी। 
नन्दगोपसुतं देवी, पतिं मे कुरु ते नमः।।

 

Katyayani Mantra for Marriage in English : 

Katyayani Mahamaye, 
Maha Yoginyadheeshwari |
Nand Gopsutam Devi, 
Patim me kuru te Namah ||

हम यहां आपको शुद्ध उच्चारण में 108 बार यह मंत्र उपलब्ध करा रहे हैं आप चाहे तो इसे यूट्यूब के माध्यम से सुन सकते हैं Click to Listen Katyayani Mantra On Youtube

 

कात्यायनी मां की पूजा कैसे करें? (Process Of Katyayani Mantra Jaap):

कात्यायनी मंत्र (Katyayani Mantra) को किसी शुभ मुहूर्त में प्रारंभ करें अगर आप नवरात्रि की षष्ठी तिथि से प्रारंभ करते हैं तो अति उत्तम है किंतु अगर नवरात्रि आने में अभी समय बाकी है तो आप शुक्ल पक्ष के किसी भी सोमवार, गुरुवार या शुक्रवार से इस मंत्र को प्रारंभ कर सकती हैं.

Read More : dehi saubhagyam aarogyam mantra : दिलाएगा आपको आरोग्य एवं सौभाग्य का वरदान

  1. प्रातः स्नानादि से निवृत्त होकर लाल रंग के साफ कपड़े पहनें और शुद्ध आसन पर बैठें. चौकी पर लाल कपड़ा बिछाकर मां कात्यायनी की अथवा मां दुर्गा की मूर्ति स्थापित करें .
  2. उन पर लाल चंदन, रोली एवं लाल पुष्प अर्पित करें अगर हो सके तो लाल चुनरी भी अर्पित करें. माता को पान एवं शहद अर्पित करें.
  3. इसके बाद दीपक जलाकर मां कात्यायनी के सामने हाथ में जल, अक्षत एवं पुष्प लेकर, 45 दिन तक 108 मंत्र प्रतिदिन करने का संकल्प लें. मंत्र अनुष्ठान एवं उसकी सफलता के लिए मां से प्रार्थना करें तथा मां से अपनी मनोकामना पूर्ण करने की प्रार्थना करें. संकल्प केवल पहले दिन ही लेना है.
  4. अगर आपको संकल्प लेना नहीं आता तो आप किसी योग्य ब्राह्मण अपना विद्वान से भी सहायता ले सकती हैं. ध्यान रहे लेकिन अगर आप संकल्प ले रही हैं तो आपको हर हालत में कोशिश करनी चाहिए कि आप का संकल्प पूर्ण हो क्योंकि यह भी भगवान के सामने एक Oath की तरह होता है.  अगर आपको इस संकल्प को पूरा करने में मन में संशय है तो संकल्प ना लें बल्कि ऐसे ही मन में निश्चय कर लें. हालांकि यह माना जाता है अगर आप किसी अनुष्ठान का संकल्प लेते हैं तो उसका पूरा फल आपको मिलता है लेकिन यह भी सच है कि अगर आप संकल्प लेकर उसे पूरा नहीं कर पाते तो वह अच्छा नहीं है.
  5. लाल चंदन की माला से 108 बार प्रतिदिन इस मंत्र को जपे.
  6. एक बार संकल्प लेने के बाद आप अपनी सुविधा अनुसार, एक साफ सुथरा स्थान निश्चित कर लें और वहां बैठकर मां कात्यायनी के प्रति पूरी श्रद्धा रखते हुए 45 दिनों तक आप उंगलियों पर या हमारे इस वीडियो के साथ 108 बार मंत्र नित्य करें तथा प्रतिदिन मंत्र माला पूरी होने के बाद अपनी मनोकामना पूर्ण करने के लिए मां से प्रार्थना करें 🙏YouTube पर शुद्ध उच्चारण में मंत्र को 108 बार सुनने के लिए यहां क्लिक करें👇🏻 
    मां कात्यायनी मंत्र 108 बार


संकल्प विधि : 

हाथ में जल, अक्षत एवं पुष्प लेकर, हे मां कात्यायनी, मैं (अपना नाम बोले) गोत्र (अपना गोत्र) मेरे शीघ्र विवाह के अथवा प्रेम विवाह के (जो भी आपकी मनोकामना है) लिए माँ कात्यायनी देवी के इस मंत्र का जाप कर रही हूँ, मुझे इस दौरान सफलता प्रदान करें, मेरे अनुष्ठान पूर्ण करें एवं उसे सफल बनाएं, यह कहते हुए एक कटोरी में जल छोड़ दें।

 

पूजा के समय ध्यान रखने वाली बातें :

 

शुक्ल पक्ष के किसी भी सोमवार, गुरुवार या शुक्रवार से इस मंत्र को प्रारंभ कर सकती हैं.

यह पूजा आपको (विवाह योग्य कन्या को) कम से कम 45 दिन तक लगातार ( Periods ,सूतक के दिनों को छोड़ कर) करनी है। आप इसके आगे भी जारी रख सकती हैं।

कोशिश करें पूजा का स्थान एक ही हो और समय भी एक सा ही रखें। यानी अगर आप सुबह 10:00 बजे पूजा करती हैं तो प्रत्येक दिन इसी समय करें। 10-15 मिनट का अंतर चल सकता है।

मनोकामना पूर्ति के लिए, कन्या स्वयं इस पूजा को करें। रोज 5 माला और कम से कम 1 माला मंत्र जाप करें।लेकिन जितनी भी माला करें वही संख्या प्रतिदिन रखें.

पूरी श्रद्धा एवं विश्वास के साथ मां कात्यायनी का यह मंत्र करें।

ध्यान रहे कन्या विवाह-योग्य होनी चाहिए (katyayani devi mantra for marriage).

पूजा के साथ-साथ कन्या के विवाह के लिए प्रयास भी होते रहने चाहिए जिससे कि मंत्र का प्रभाव शीघ्र ही स्पष्ट हो सके।

पूजा के दौरान सात्विक भोजन करें। नॉनवेज ना खाएं।

अंत में केवल इतना ही कहना चाहते हैं कि आप पूरी श्रद्धा एवं विश्वास के साथ इस मंत्र (Katyayani Mantra) को करिए और माता रानी आपकी सभी मनोरथ शीघ्र अति शीघ्र पूर्ण करेंगी !!

इसके साथ ही देवी माता से हमारी भी यह प्रार्थना है कि वह आपकी मनोकामना शीघ्र पूर्ण करें और आपको अच्छा जीवन प्रदान करें🙏

Read More

Sarvabadha Nivaran Mantra 

   Sarva Mangal Prapti Mantra 

Sabhi Manorath Ke Liye Gauri Stuti

Benefits Of Reading Hanuman Chalisa

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here